रविवार, 1 अगस्त 2010

मरीचिका का पुनर्जन्म

दिन पहले की बात है , मुझ कई मित्रों ने SMS किया और कई ने इमेल पर लिखा कि मेरा ब्लॉग मौजूद नही है , जब मैने चेक किया तो पाया कि गूगल ने मेरा ब्लॉग हटा दिया है । कुछ जानकारी उनको देने के बाद यह आश्वासन दिया गया कि जांच के बाद पुन: इसे चालू किया जायेगा ।

इस बीच मैने ज़ाकिर अली जी के ब्लॉग "तस्लीम" पर पूछा भी , क्यों कि मैने सुन रखा था कि अर्शिया जी के ब्लॉग के साथ भी ऐसा हो चुका था । ज़ाकिर जी ने बताया कि थोड़ा समय लगेगा और जांच के बाद चालू हो जायेगा । आज फ्रेन्डशिप डे के दिन, यह ब्लॉग तीन दिन बाद गायब रहने के बाग फिर से वेब पर उपलब्ध है । इस बीच सभी मित्रों को धन्यवाद देता हूं जिन्होने इमेल या SMS स से सम्पर्क किया । आशा है अब यह हमेशा मौजूद रहेगा ।

1 टिप्पणी:

  1. It's good that your blog has returned!

    Thankfully this didn't happen with me.
    Belated greetings on Independence Day and Krishnashtami!

    I've been very busy and have been absent from blogging for many days. Hopefully will be visible.

    See my 3 posts on an international issue on this blog, from where I have signed.
    Thanks

    उत्तर देंहटाएं